search_avp

पसंद की खबरें प्राप्त करने के लिए यहां टाइप करें !

जौनपुर न्यूज : धनंजय के लिए महाभारत के लाक्षागृह जैसा षडयंत्र रच रहे सत्ता से जुड़े लोग : श्रीकला सिंह

धनंजय के लिए महाभारत के लाक्षागृह जैसा षडयंत्र रच रहे सत्ता से जुड़े लोग: श्रीकला सिंह

-कोर्ट से ज़मानत मिलने के बाद बिलबिला उठे विपक्षी खेमे के लोग, अब फिर षड्यंत्र रचने में जुट गए
-मेरे लिए हर मतदाता परछाईं बनकर खड़ा है साथ, नहीं चल पाएगा शकुनी और दुर्योधन का खेल


अभिषेक यादव जौनपुर

l पूर्व सांसद धनंजय सिंह को फांसने के लिए विपक्षी लोग खासकर सत्ताधारी, महाभारत के दुर्योधन और शकुनी की तरह लाक्षागृह बनाने में जुटे हैंl मेरे पति धनंजय भी इस चुनावी महाभारत में अर्जुन की तरह खड़े हैं l मुझे बहू मानकर हर मतदाता योगेश्वर श्रीकृष्ण की तरह खड़ा हो गया है l यह बात बसपा प्रत्याशी श्रीकला ने सदर विधान सभा के गांवों, कस्बों और शहरी इलाके के मोहल्लों में भ्रमण के दौरान मंगलवार को कही l
श्रीकला धनंजय सिंह ने मंगलवार को गुरैनी, मझाऊरा, करंजा कला, सिद्दीक पुर, खेतासराय से धर्मापुर ब्लॉक के दो दर्जन गावों, कस्बों में भ्रमण किया, उनके पहुँचते ही उन इलाकों के लोगों की भीड़ काफिला में तब्दील नज़र आती गई l खासकर युवा मतदाताओं और बुजुर्गों से वह सत्ता से जुड़े लोगों द्वारा अपने पति धनंजय को फिर किसी षड्यंत्र में फंसाने की दुहाई देती रहीं l इसके लिए उन्होंने हजारों साल पुराने महाग्रंथ महाभारत के दो पात्रों दुर्योधन और शकुनी द्वारा पांडवों को मारने के लिए रचे गए षड्यंत्र लाक्षा गृह का उदाहरण देती रहीं l 
उन्होंने कहा की इस चुनावी महाभारत में दुर्योधन और शकुनी जैसे विपक्षियों से मुकाबले के लिए मुझे मैदान में उतरना पड़ गया, मुझे ताकत आम मतदाताओं से मिल रही है l मेरे पति धनंजय को पहले मुकदमे में फंसाया, उनके जेल जाते ही इन शकुनियों को राहत मिली की चलो इसको तो ऐसे चक्रव्यूह में फंसाया की वह निबट गया l लेकिन उच्च न्यायालय से बेल मिलने की खबर पहले उन्हें मिली तो बौखलाकर पूर्व सांसद को दूसरी जेल में शिफ्ट करा दिया l
अब धनंजय सिंह जमानत से बाहर आने वाले हैं लेकिन मुझे यह आशंका है कि विपक्षी अब लाक्षागृह जैसा जाल बना रहे होंगे , ऐसा इसलिए है क्योंकि इनके पास बेरोजगारी और महंगाई का कोई जवाब नहीं l पब्लिक पूछ रही और ये धनंजय को चुनाव से बाहर रखने में लगे हैं l 
उन्होंने कहा कि मेरे मैदान मे आते ही इन्हें अपनी हार सताने लगी है l मुझे आम जनता से झूठे वायदे करने की ज़रूरत ही नहीं पड़ रही क्योंकि मैं और मेरे पति साल के 365 दिन आमजन के बीच होते हैं और लोगों की ज़रूरतें पूरी करते हैं l बसपा सुप्रीमो बहन मायावती की सोच को हम गाँव गाँव पहुंचा रहे हैं l

सम्बंधित खबरें  👇