search_avp

पसंद की खबरें प्राप्त करने के लिए यहां टाइप करें !

Jaunpur News : जौनपुर में डाक्टर बना मौत का सौदागर, ले ली एक और गर्भवती की जान, परिजनों को धक्के देकर अस्पताल से निकाला बाहर


जौनपुर न्यूज़। यूपी के जनपद जौनपुर अन्तर्गत शाहगंज का चर्चित अस्पताल का डाक्टर फिर एक गर्भवती महिला की जान लेकर मौत का सौदागर बन गया है।

दो माह की गर्भवती थी मृतिका रेनू यादव


मिली जानकारी के अनुसार बताया जाता है कि उक्त जनपद अंतर्गत ग्राम जमदहा थाना खेतासराय के रहने वाले इंदल यादव ने अपनी दो महीने की प्रेग्नेंट पत्नी रेनू यादव (26 वर्षीय) को शुक्रवार की दोपहर नगर के आज़मगढ़ रोड स्थित एएन मेमोरियल हॉस्पिटल में भर्ती कराया। डाक्टर नीना ने उनका उपचार किया और उपचार के बाद में डॉक्टर ने उन्हें छुट्टी दे दी। बता दे कि शाम के करीब 5 बजे, रेनू की तबियत अचानक फिर से खराब हो गई और परिजनों ने उसे पुनः एएन मेमोरियल हॉस्पिटल लेकर आया, जहां लगभग 12 बजे दो माह गर्भवती रेनू की इलाज के दौरान मौत हो गई। जैसे ही इस मनहूस खबर मिली तो मृतिका के परिजनों में चीख पुकार मच गयी। 


परिजनों ने डॉक्टर व स्टाफ पर गलत इंजेक्शन और गाली-गलौज व धमकी देने का लगाया आरोप


मृतिका के परिजनों का आरोप है कि डाक्टर नीना और उनके अप्रशिक्षित स्टाफ द्वारा गलत इंजेक्शन और लापरवाही के कारण गर्भवती रेनू यादव की मौत हुई है। आरोप है कि मृतिका का उसी अस्पताल में एक माह से इलाज चल रहा था। जिसका पूरा फाइल डाक्टर के मनबढ़ गुंडों ने फाइल छीन लिया और गाली-गलौज करते हुए डाक्टर ने धमकी दिया कि जाओ जो करना है, कर लो और धक्के देकर अस्पताल गेट से बाहर निकाल दिया।


परिजनों ने लिखित तहरीर देते हुए डाक्टर नीना व स्टाफ के खिलाफ कठोर कार्यवाई की मांग की है।


परिजनों द्वारा पुलिस को सूचना देने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेते हुए पोस्टमार्टम हेतु जिला अस्पताल भेज दिया। वहीं मृतिका के परिजनों ने कोतवाली पुलिस और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अधीक्षक को लिखित तहरीर देते हुए डाक्टर नीना और उसके स्टाफ के खिलाफ कठोर कार्यवाई की मांग की है।


इसके पहले भी उक्त अस्पताल में कई जच्चा बच्चा की हुई है मौत


गौरतलब है कि इसके पहले भी उक्त अस्पताल कई जच्चा बच्चा की मौत हो चुकी है। परिजनों द्वारा तोड़-फोड़ भी हुई जिसे स्वास्थ्य विभाग ने मामले को गम्भीरता से लेते हुए जांच बिठा दिया था। अब फिर आरोप के अनुसार उक्त डाक्टर ने एक और गर्भवती महिला की जान ले ली जिससे आये दिन उक्त अस्पताल सुर्खियों में बना रहता है। घटना के बाद नगर में उक्त डाक्टर को लेकर चर्चा है कि वह डाक्टर नहीं, बल्कि मौत का सौदागर है।


●  इस सम्बंध में क्या कहते है, ये 


इस पूरे मामले में प्रभारी चिकित्सा अधीक्षक डा. राकेश कुमार ने कहा कि मामला संज्ञान में आया है। जांच और पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद स्थिति मौत के कारण का पता चल पाएगा। वहीं आईएमए शाहगंज के अध्यक्ष डा. एसएल गुप्ता ने कहा कि मामला पुलिस के संज्ञान में है। उन्होंने ने कहा कि किसी के साथ भी अन्याय नहीं होने दिया जाएगा। वहीं प्रभारी निरीक्षक तारकेश्वर राय का कहना है कि तहरीर मिली है। जाँच की जा रही है, शव को पोस्टमार्टम हेतु भेज दिया गया है। रिपोर्ट आने के बाद अग्रिम कार्यवाई की जाएगी। वहीं प्रभारी निरीक्षक ने गालीगलौज और धक्का मुक्की की बात को सिरे से नकार दिया।

WhatsApp Channel