उज्जैन में 12 साल की बच्ची से रेप, खून से सनी ढाई घंटे भटकती रही मासूम, हर दरवाजे पर दी दस्तक, किसी ने मदद के लिए नही बढ़ाया हाथ
search_avp

पसंद की खबरें प्राप्त करने के लिए यहां टाइप करें !

उज्जैन में 12 साल की बच्ची से रेप, खून से सनी ढाई घंटे भटकती रही मासूम, हर दरवाजे पर दी दस्तक, किसी ने मदद के लिए नही बढ़ाया हाथ



मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) । उज्जैन में 12 साल की बच्ची के साथ बलात्कार का मामला सामने आया है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक जिले के महाकाल थाना इलाके में बड़नगर रोड पर दांडी आश्रम के पास पीड़िता सोमवार की शाम घायल अवस्था में में मिली थी और उसके कपड़े खून से सने हुए थे।

इसके बाद पुलिस उसे स्थानीय अस्पताल ले गई, जहां उसका इलाज चल रहा है और अब वह खतरे से बाहर बताई जा रही है। बता दे कि पुलिस ने जब बच्ची को घायल अवस्था में अस्पताल ले गई तो उसके साथ दुष्कर्म की घटना की पुष्टि हुई। बालिका के प्राइवेट पार्ट्स में गंभीर चोटों के निशान हैं। बालिका ढाई घंटे तक अर्धनग्न अवस्था में एक कॉलोनी से दूसरे कॉलोनी तक भटकती रही। उसने माँ के साथ भी ग़लत होने की बात कही है पर माँ कहाँ है उसका पता अभी तक नही चल सका है। सीसीटीवी फुटेज फ़ोटो में दिख रहा है कि कुछ लोग उसे भटकते हुए देखते हैं लेकिन मदद के लिए आगे नहीं आते। अधिक खून बह जाने की वजह से उसकी स्थिति नाजुक हो गई थी जिसके बाद बच्ची को इंदौर रेफर कर दिया गया, जहां उसे खून चढ़ाया गया है। जानकारी के मुताबिक वह अब खतरे से बाहर है। वहीं जानकारी मिली है कि बालिका उत्तर प्रदेश के प्रयागराज की है। लेकिन अभी यह साफ नहीं हो पाया है कि बच्ची उज्जैन कैसे पहुंची और किसने उसके साथ हैवानियत किसने की।


बालिका की भाषा की वजह से पुलिस को जांच में बड़ी समस्या आ रही है। पुलिस अधीक्षक सचिन शर्मा ने उत्तर प्रदेश की महिला एक्सपर्ट से बालिका की बातों को समझा और पता चला कि वह उत्तर प्रदेश के प्रयागराज के आसपास की हो सकती है। बच्ची जो भाषा बोल रही है वह वहां के एक समुदाय के द्वारा बोली जाती है। मध्य प्रदेश पुलिस उत्तर प्रदेश पुलिस से भी संपर्क कर बालिका के परिवार का पता लगाने का प्रयास कर रही है।


पुलिस और साइबर टीम सीसीटीवी फुटेज और लोगों से पूछताछ के जरिए जांच आगे बढ़ा रही है। पुलिस को इंदौर-नागदा बाईपास पर हार्ट स्पेशल कॉलोनी के पास फुटेज में कुछ सुराग हाथ लगे हैं। महाकाल थाना पुलिस के साथ नीलगंगा पुलिस भी जांच में लगी हुई है। साइबर एक्सपर्ट की भी मदद ली जा रही है। पुलिस इस एरिया के आसपास भी सीसीटीवी फुटेज कंगाल में लगी हुई है।




मामले में पुलिस ने एक ऑटो ड्राइवर को हिरासत में लिया 


पुलिस को सीसीटीवी फुटेज में एक ऑटो ड्राइवर हार्ट स्पेशल रोड़ पर दिखाई दिया है, जिसमें वह पीड़िता के साथ दिखाई दे रहा है। सीसीटीवी फुटेज की मदद से ऑटो ड्राइवर को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। पुलिस को बच्ची से मिली जानकारी के आधार पर पुलिस संबंधित व्यक्ति तक पहुंचने की संभावना जाताया जा रहा है। बच्ची ने पुलिस से बातचीत में बताया कि वह दरिंदगी का शिकार होने के बाद जान बचाकर भाग निकली। 


अज्ञात के खिलाफ एफआईआर किया दर्ज 


उज्जैन पुलिस अधीक्षक सचिन शर्मा ने बताया कि अज्ञात के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज किया गया है। बालिका की हालत नाजुक होने से उसे इंदौर रेफर किया गया है और जो भी बेस्ट ट्रीटमेंट है वह कराया जा रहा है। खून की कमी थी जिसकी व्यवस्था कराई गई है। इस मामले में एसआईटी टीम गठित की गई है और लगातार आसपास के क्षेत्र में सर्चिंग अभियान चल रहा है। घटनास्थल का अभी पता नहीं चल पाया है। इसमें भौतिक साक्ष्य तकनीकी साक्ष्य और जिसने भी इस घटना को अंजाम दिया है उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेंगे।





आपकी पसंद की ख़बरें